देश में वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए 15 राज्यों ने BH-सीरीज शुरू की

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग सचिव गिरिधर अरमाने ने शुक्रवार को कहा कि पूरे भारत में निजी वाहनों के निर्बाध ट्रांसफर को सुनिश्चित करने के लिए अबतक 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए नई भारत सीरीज (बीएच सीरीज) शुरू की है।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग सचिव गिरिधर अरमाने ने शुक्रवार को कहा कि पूरे भारत में निजी वाहनों के निर्बाध ट्रांसफर को सुनिश्चित करने के लिए अबतक 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए नई भारत सीरीज (बीएच सीरीज) शुरू की है।

सरकार ने अगस्त में एक नई वाहन रजिस्ट्रेशन व्यवस्था को अधिसूचित किया था। इसके तहत वाहन मालिकों को एक राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से दूसरे राज्य या केंद्र शासित प्रदेश में ट्रांसफर होने पर अपने वाहन का पुन: रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं होगी।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि भारत सीरीज के तहत रक्षा कर्मियों, केंद्र सरकार/राज्य सरकार, केंद्रीय/राज्य सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों और निजी क्षेत्र की कंपनियों या संगठनों के उन कर्मचारियों को यह सुविधा स्वैच्छिक आधार पर उपलब्ध होगी, जिनके कार्यालय चार या अधिक राज्यों/संघ शासित प्रदेशों में हैं।

अरमाने ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि नई राष्ट्रीय वाहन नीति के तहत राज्यों में वाहन कबाड़ केंद्र (स्क्रैपिंग सेंटर) स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें पहले ही गुजरात से एक आवेदन मिला है। हम असम से एक और आवेदन की उम्मीद कर रहे हैं।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने हाल में कहा था कि जो नए वाहन राष्ट्रीय वाहन कबाड़ नीति के तहत पुराने वाहनों को कबाड़ के लिए देने के बाद खरीदे जाएंगे, उन पर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश पथकर में 25 प्रतिशत तक की छूट देंगे।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …