अमरीकी अधिकारियों के अनुसार अलकायदा सरगना अयमान अल जवाहिरी अफगानिस्‍तान में सी.आई.ए. के ड्रोन हमले में मारा गया है। इससे संबंधित कार्रवाई को सप्‍ताहंत पर अंजाम दिया गया।

वर्ष 2011 में अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को अमरीकी सेना द्वारा मारे जाने के बाद जवाहिरी की मौत को इस आतंकी गुट के लिए बड़ा झटका समझा जा रहा है।

मिस्र के नागरिक जवाहिरी पर ढाई करोड डॉलर का इनाम था। उस पर आरोप था कि उसने वर्ष 2001 में अमरीका में नाइन-इलेवन हमले में समन्‍वय किया था, जिसमें करीब तीन हजार लोग मारे गए थे।

एक अमरीकी अधिकारी ने बताया कि सी.आई.ए. ने रविवार को अफगानिस्‍तान की राजधानी काबुल में ड्रोन हमला किया।

अमरीकी राष्‍ट्रपति जो. बाइडेन ने इस कार्रवाई के बारे में व्‍हाइट हाउस से राष्‍ट्र को सम्‍बोधित किया। अगस्‍त 2021 में अफगानिस्‍तान से अमरीकी सैनिकों और राजनयिकों के हटने के बाद अमरीकी ड्रोन हमला अफगानिस्‍तान में पहली अमरीकी कार्रवाई है।

तालिबान के प्रवक्‍ता जबीउल्‍ला मुजाहिद ने ड्रोन हमले की पुष्टि की है और इसकी कड़ी निंदा की है। उसने इसे अंतरराष्‍ट्रीय सिद्धांतों का उल्‍लंघन बताया है।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …