बालकोनगर, 23 जुलाई 2022 : बालको प्रबंधन ने शिक्षा के उन्नयन को सदैव ही सर्वोपरि रखा है। बालकोनगर ने साढ़े पांच दशकों में शिक्षा के क्षेत्र में भरपूर प्रगति की है। बालको के सहयोग से संचालित दिल्ली पब्लिक स्कूल, बालकोनगर के छात्र-छात्राओं ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 में सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। 12वीं में कॉमर्स स्ट्रीम से अनादि अग्रवाल ने 97.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर और 10वीं की सृजनी रे ने 99 प्रतिशत अंक के साथ जिले में टॉप किया।

बारहवीं कक्षा के परिणाम में साइंस स्ट्रीम की श्रद्धा सिंह ने 96.6 प्रतिशत अंकों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। 12वीं के 11 विद्यार्थियों को 90 फीसदी से अधिक अंक मिले तथा 94 प्रतिशत विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। दसवीं कक्षा के परिणाम में मो. शम्स ने 98.4 प्रतिशत अंक प्राप्त कर द्वितीय तथा अक्षांश नामदेव 97.80 प्रतिशत अंक प्राप्त कर तृतीय स्थान हासिल किया।10वीं के 38 विद्यार्थियों को 90 फीसदी से अधिक अंक मिले तथा लगभग सभी विद्यार्थियों प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। दस छात्रों ने अंग्रेजी, संस्कृत, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान में पूरे 100 अंक हासिल किए।

बालको डीपीएस की स्थापना 2012 में हुई जिसका उद्देश्य बालकोनगर के युवाओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए की गई थी। इसके साथ बालको टाउनशिप में 15 स्कूल हैं जिनके संचालन में बालको प्रबंधन मदद करता है। बालकोनगर क्षेत्र में संचालित स्कूलों से शिक्षित विद्यार्थी देश-विदेश में अपनी प्रतिभा से सफलताएं अर्जित कर रहे हैं। बालको को अपनी युवा प्रतिभाओं पर गर्व है जो सभी बाधाओं के बावजूद अपने सपनों को प्राप्त करने के लिए पूरी तरह से प्रयासरत हैं।

बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने समस्त छात्र-छात्राओं को बेहतरीन परीक्षा परिणामों की हार्दिक बधाई और उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं। श्री पति ने कहा कि बालको ने अपने स्थापना काल से ही शैक्षणिक सुविधाओं के विकास पर भरपूर निवेश किया है। बालको के साढ़े पांच दशकों की यात्रा सिर्फ एक उद्योग के विस्तार की यात्रा नहीं है बल्कि इसकी प्रगति ने कोरबा क्षेत्र के सामाजिक-आर्थिक विकास को मजबूती दी है। श्री पति ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सामाजिक-आर्थिक परिदृश्य को नया आयाम दे सकती है। बालको के योगदान से बालकोनगर एवं कोरबा क्षेत्र में शिक्षा के क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव हो रहे हैं।

डीपीएस बालको के प्रिसिंपल कैलाश पवार ने प्रसन्नता जताई। उन्होंने कहा कि हमारे छात्रों का उत्कृष्ट परिणाम महत्वपूर्ण है क्योंकि वे बीते दो वर्षों तक कोरोना के चुनौतिपूर्ण परिस्थितियों का सामना किया तथा स्कूल भी नियमित नहीं आ सके। बारहवीं के छात्रों ने परीक्षा ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड में दिया था। श्री पवार ने कहा कि तमाम प्रतिकूल स्थिति और महामारी के कठिन समय के बावजूद छात्र आगे बढ़े और अपने परिणामों से खुद के उड़ान को और उंचा किया जो बहुत ही संतोषजनक है।

वर्ष 2016 में शुरू ‘परियोजना कनेक्ट’ का उद्देश्य स्थानीय विद्यार्थियों में विज्ञान, अंग्रेजी, गणित और लेखा (सेमा) में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए समुदाय की जरूरतों को पूरा करना है। परियोजना मुख्य रूप से बालको कर्मचारियों तथा स्वयंसेवी शिक्षकों के माध्यम से छात्रों के ग्रेड में सुधार, शिक्षकों की क्षमता निर्माण और करियर परामर्श के लिए एक सक्षम वातावरण बनाकर सरकारी स्कूलों में सीखने के माहौल में सुधार लाने पर केंद्रित है। वित्तीय वर्ष 2022 में एसईएमए विषयों पर 9वीं, 10वीं कक्षा के लिए नियमित और उपचारात्मक कक्षाओं से लगभग 1447 छात्र लाभान्वित हुए।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …