पोस्‍ट ऑफिस: यहां फिक्स्ड डिपॉजिट कराना ज्यादा फायदेमंद और सुरक्षित, मिलते हैं ये फायदे

नई द‍िल्‍ली। पोस्‍ट ऑफिस यानी डाक घर की बचत योजनाओं को सुरक्षित व अच्छे रिटर्न के लिए बेहतर माना जाता है। भारत की डाक सेवा दुनिया भर में सबसे बड़ी डाक सेवा है। भारत में करीब 1.55 लाख पोस्ट ऑफिस हैं। पोस्ट ऑफिस में फिक्स्ड डिपॉजिट कराना ज्यादा फायदेमंद और सुरक्षित है। पोस्ट ऑफिस में एफडी कराने पर सुविधाएं भी ज्यादा हैं। हां लेकिन ये बात सच है कि बहुत कम लोगों को पता है कि पोस्ट ऑफिस में एफडी फायदे तो हैं साथ ही सुविधाएं भी हैं।

सुरक्षा के लिहाज से यहां एफडी कराना भारतीयों की पहली पसंद है। फिक्स्ड डिपॉजिट पर सरकारी गारंटी मिलती है। एफडी पर ब्याज सालाना आधार पर देय होता है। लेकिन, ब्याज का कैलकुलेशन तिमाही आधार पर किया जाता है। पोस्ट ऑफिस में एफडी कराना बेहद आसान है। इंडिया पोस्ट की वेबसाइट के मुताबिक, पोस्ट ऑफिस में आप 1,2, 3, 5 सालों के लिए एफडी करा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: इस राज्य में कंपनियों को कर्मचारियों की छंटनी करना होगा आसान, औद्योगिक विवाद अधिनियम में कुछ संशोधनों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

ऐसे खोल सकते हैं एफडी अकाउंट

पोस्ट ऑफिस में एफडी के लिए कोई भी व्यक्ति अपना अकाउंट चेक या कैश देकर खोल सकता है। अगर यह एफडी अकाउंट चेक से खोला जा रहा है तो यहां ध्यान रखें कि पैसा जिस तारीख में सरकारी अकाउंट में जमा हो जाएंगे, उसी दिन से एफडी अकाउंट खुलने की तारीख मानी जाएगी। अकाउंट खोलने के लिए न्यूनतम 1000 रुपए लगते हैं। इस अकाउंट में मैक्सिमम राशि जमा करने की कोई सीमा नहीं है।

जान लें एफडी पर ब्याज

पोस्ट ऑफिस में अगर आप एफडी कराते हैं तो फिलहाल आपको 7 दिन से एक साल की एफडी पर 5.50 फीसदी ब्याज मिलता है। 1 साल 1 दिन से लेकर 2 साल की एफडी पर भी समान ब्याज दर है। 3 साल तक की एफडी पर भी 5.50 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। 3 साल एक दिन से 5 साल तक की एफडी पर 6.70 फीसदी ब्याज मिलता है। तिमाही आधार पर इन ब्याज दरों में बदलाव हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: कोविशिल्ड वैक्सीन के बाॅक्स 14 शहरों के लिए किए गए रवाना, 9 फ्लाइट्स के जरिए पहुंचाए जा रहे

अकाउंट करा सकते हैं ट्रांसफर

अगर आप शहर या जगह बदल रहे हों तो आप पोस्ट ऑफिस में कराए एफडी को जहां आप जा रहे हैं वहां के पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर भी करा सकते हैं। एफडी अकाउंट एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है। इंडिया पोस्ट की वेबसाइट के मुताबिक, अगर आपका व्यक्तिगत एफडी अकाउंट है तो आप इसे ज्वाइंट अकाउंट में बदल सकते हैं। इसी तरह अगर ज्वाइंट अकाउंट है तो आप इसे दोबारा सिंगल अकाउंट में बदल सकते हैं।

नाबालिग भी खोल सकता एफडी अकाउंट

पोस्ट ऑफिस एफडी में नॉमिनी को जोड़ने या बदलने की भी सुविधा है। आप नॉमिनी को अकाउंट खुलने के बाद भी जोड़ सकते हैं या बदल सकते हैं। इसके अलावा एक नाबालिग भी एफडी अकाउंट खोल सकता है। हां, जब वह बालिग हो जाएगा तो उसे अपने नाम पर अकाउंट ट्रांसफर करने के लिए अप्लाई करना होगा।

पोस्ट ऑफिस ऑफर कर रहा है ये स्कीम

इंडिया पोस्ट कई छोटी बचत योजनाएं ऑफर करती हैं। पोस्ट ऑफिस बैंकों की तुलना में बेहतर ब्याज दरें भी ग्राहकों को ऑफर करता है। पोस्ट ऑफिस की योजनाओं में पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (पीपीएफ), सुकन्या समृद्धि योजना (एसएसवाई), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी), 5 साल के लिए पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट, किसान विकास पत्र (केवीपी) और सीनियर सिटीजन सेविंग्स आदि शामिल है।