बिहार चुनाव में फ्री कोरोना वैक्सीन का वादा कर फंसी बीजेपी, चुनाव आयोग में पहुंची शिकायत, तेजस्वी ने भी घेरा

साकेत गोखले ने अपनी शिकायत में कहा है कि ये ऐलान किसी बीजेपी नेता द्वारा नहीं, बल्कि देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा किया गया है, जो सवाल खड़े करता है। क्योंकि अभी तक भारत सरकार की ओर से कोरोना वैक्सीन देने को लेकर किसी नीति की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। जबकि कोरोना के कारण देश के हर राज्य को नुकसान हुआ है और बिहार की तरह ही सभी राज्य में लोग इससे प्रभावित हुए हैं। इसकी गंभीरता को देखते हुए आयोग को तुरंत एक्शन लेना चाहिए।

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी बीजेपी के फ्री कोरोना वैक्सीन के वादे को लेकर सवाल उठाया है। उन्होंने इस घोषणा पर तंज कसते हुए ट्वीट कर कहा है कि भारत सरकार ने कोविड वैक्सीन वितरण की घोषणा कर दी है। ये जानने के लिए कि वैक्सीन और झूठे वादे आपको कब मिलेंगे, कृपया अपने राज्य के चुनाव की तारीख देखें।

इससे पहले बिहार चुनाव में विपक्ष के मुख्यमंत्री प्रत्याशी और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने भी बीजेपी की इस घोषणा पर करारा हमला करते हुए कहा कि कोरोना का टीका पूरे देश का है, सिर्फ बीजेपी का नहीं है। तेजस्वी के अलावा कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी बीजेपी को आड़े हाथों लिया है। सुरजेवाला ने कहा कि बिहार चुनाव में बीजेपी लोगों को कोरोना वैक्सीन देने की बात कर बरगला रही है।

बता दें कि बिहार चुनाव के लिए गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संकल्प पत्र के नाम से बीजेपी का घोषणा पत्र जारी किया। इस संकल्प पत्र में कुल 11 चुनावी वादे किये गए हैं, जिसमें सबसे पहला वादा मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने का है। गौरतलब है कि बिहार में केवल एक हफ्ते बाद ही पहले चरण का मतदान होना है, ऐसे में बीजेपी की ओर से फ्री कोरोना वैक्सीन का वादा करने को लेकर सवाल उठने लगे हैं।