सरकारी नौकरी: UPSC में इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, 7वें वेतन आयोग के तहत मिलेगी सैलरी

दशहरा और दीपावली में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार सरकार नए युवकों को सरकारी नौकरी का तोहफा देने जा रही है। त्योहारी सीजन में केंद्र सरकार का कर्मचारी बनने और 7वें वेतन आयोग के मुताबिक सैलरी पाने का शानदार अवसर है। जी हां, संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने कई विभागों में बंपर वैकेंसी निकाली है। खास बात यह है कि इन सभी विभागों में ज्वाइन करने वाले कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग के तहत सैलरी मिलेगी।

संघ लोक सेवा आयोग यानी UPSC (Union Public Service Commission) ने 44 खाली पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों को आवेदन के लिए आमंत्रित किया है। UPSC ने फोरमैन, स्पेशलिस्ट ग्रेड असिस्टेंट प्रोफेसर और अन्य के पदों पर भर्ती के लिए एक भर्ती अधिसूचना जारी की है। इच्छुक उम्मीदवार 29 अक्टूबर 2020 तक या उससे पहले upsc.gov.in पर ऑनलाइन मोड से इन पदों के लिए अप्लाई कर सकते हैं। आवेदन की हार्ड कॉपी जमा करने की अंतिम तारीख 30 अक्टूबर 2020 है।

विभिन्न खाली पदों में फोरमैन (Electrical), वरिष्ठ वैज्ञानिक सहायक (Electronics) और वरिष्ठ वैज्ञानिक सहायक (Metallurgy) समेत अन्य शामिल हैं। इन पदों के लिए अप्लाई करने की अंतिम तारीख 29 अक्टूबर 2020 है, जबकि आवेदन की हार्ड कॉपी जमा करने की अंतिम तारीख 30 अक्टूबर, 2020 है।

इन मंत्रालयों में करें अप्लाई

– UPSC द्वारा जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक फोरमैन (इलेक्ट्रिकल), वैमानिकी गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय – 5 पद।

– सीनियर साइंटिफिक असिस्टेंट (इलेक्ट्रॉनिक्स), वैमानिकी गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय – 5 पद।
– सीनियर साइंटिफिक असिस्टेंट (मेटालर्जी), वैमानिकी गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय – 1 पद।
– स्पेशलिस्ट ग्रेड III असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए 5 पद खाली हैं।
– वहीं स्पेशलिस्ट ग्रेड III असिस्टेंट प्रोफेसर (रेडियो-डायग्नोसिस) के लिए 28 पद है।

पदों के लिए शैक्षणिक योग्यता (Educational Qualification)

फोरमैन (इलेक्ट्रिकल), वैमानिकी गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री और संबंधित क्षेत्र में एक साल का अनुभव या इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स (AMIE) के एसोसिएट सदस्य. किसी मान्यता प्राप्त संगठन से संबंधित क्षेत्र में एक वर्ष का अनुभव अनिवार्य है। वहीं, सीनियर साइंटिफिक असिस्टेंट (इलेक्ट्रॉनिक्स), वैमानिकी गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय के लिए किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में डिग्री और किसी मान्यता प्राप्त संगठन से संबंधित क्षेत्र में एक वर्ष का अनुभव होना चाहिए।

सीनियर साइंटिफिक असिस्टेंट (मेटालर्जी), वैमानिकी गुणवत्ता आश्वासन महानिदेशालय, रक्षा उत्पादन विभाग, रक्षा मंत्रालय के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग या टेक्निकल में डिग्री या किसी मान्यता प्राप्त संगठन से संबंधित क्षेत्र में एक साल का अनुभव या एसोसिएट सदस्य या किसी मान्यता प्राप्त यूनिर्सिटी से धातु विज्ञान इंजीनियरिंग में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मेटल्स (AMIIM) और संबंधित क्षेत्र में एक वर्ष का अनुभव चाहिए।

इसके अलावा स्पेशलिस्ट ग्रेड III असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए  भारतीय चिकित्सा परिषद अधिनियम, 1956 (1956 का 102) के पहली अनुसूची या द्वितीय अनुसूची या तीसरे अनुसूची के भाग II में शामिल MBBS डिग्री योग्यता और संबंधित स्पेशिएलिटी में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री का होना अनिवार्य है। ऐसा माना जा रहा है कि कोरोना लॉकडाउन की वजह से नौकरियां गंवा चुके लोगों के लिए सरकार ये और भी सरकारी वैकेंसी निकाल सकती है।