फिर गूंज उठा नवजात की किलकारी से कोरबा का कोविड अस्पताल, कोरोना संक्रमित प्रसूता ने बिखेरी विश्वास की मुस्कान

कोरबा (IP News). शनिवाार को का दिन कोरबा के विकास नगर कुसमुंडा की एक 22 वर्षीय कोरोना संक्रमित महिला के लिए आशा और विश्वास का नया सबेरा लेकर आया है। कोरोना की मरीज इस युवती ने आज विशेष कोविड अस्पताल की मेडिकल टीम के प्रयासों से स्वस्थ बालक को जन्म दिया। जन्म लेते ही जब बच्चे की किलकारी इस कोविड अस्पताल में गूंजी तो मानो सारा अस्पताल और उसमें इलाज करा रहे सभी कोरोना मरीजों के जीवन में आशा और जीवन के प्रति सकारात्मकता का भाव भर गया।

कोविड अस्पताल में आज सुबह 11.25 मिनट पर डॉक्टर प्रिन्स जैन के नेतृत्व में अस्पताल की मेडिकल टीम ने कुसमुंडा निवासी महिला का स्वस्थ प्रसव कराया। कोरोना से संक्रमित महिला आज सुबह ही प्रसव पीड़ा के साथ अस्पताल में भर्ती हुई थी। महिला की कोरोना जांच रिपोर्ट 10 अक्तूबर को पाजीटिव आई थी और वह होम आईसोलेशन में रहकर अपना इलाज करा रही थी। परंतु आज सुबह प्रसव पीड़ा होने पर सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग के अमले ने उसे सुरक्षित प्रसव के लिए कोविड अस्पताल में भर्ती किया था।

कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने शिशुवती माता को बधाई दी और कोविड अस्पताल के पूरे मेडिकल स्टाफ की तारीफ कर होैसला बढ़ाया है। कलेक्टर ने कहा कि गर्भवती महिला के कोविड-19 संक्रमित होने के कारण सुरक्षित प्रसव कराना चुनौतीपूर्ण कार्य था जिसे डाक्टरों की टीम ने अच्छे ढंग से पूर्ण किया। कलेक्टर ने कहा कि जिले में बनाए गये कोविड अस्पताल में ईलाज कराने वाले मरीज लगातार ठीक हो रहे हैं। कोविड अस्पताल में कुशल डाक्टरों और नर्सों की मेडिकल टीम की ड्यूटी लगाई गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. बी.बी.बोडे ने बताया कि 22 वर्षीय विकास नगर निवासी गर्भवती महिला ऐ- सिम्प्टोमेटिक कोरोना पाजिटिव है। महिला का ईलाज होम आइसोलेशन में रखकर किया जा रहा था। प्रसव पीड़ा शुरू होने पर आज सुबह ही उसे ईएसआईसी कोरबा में भर्ती कराया गया। अस्पताल में डॉक्टर प्रिन्स जैन की देखरेख में डॉक्टर उषा धीरे, सुष्मिता परिदा, निर्मला कंवर और झूलकुंवर जगत की टीम ने आज सुबह 11 बजकर 25 मिनट पर सफलतापूर्वक प्रसव कराया जिसके बाद जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ्य हैं। नर्सों द्वारा जच्चा-बच्चा की लगातार देखभाल की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि एक अक्तूबर को भी इसी कोविड अस्पताल में रजगामार निवासी कोरोना संक्रमित महिला का मेडिकल टीम ने सफल प्रसव कराया था और महिला ने स्वस्थ बालक को जन्म दिया था।