अमित जोगी के खिलाफ दर्ज होगी FIR, छानबीन समिति ने दिए आदेश, अमित ने कहा – गुनाह करके कहां जाओगे गालिब… ये जमीं ये आसमां सब उसी का है …

बिलासपुर. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ ़(जे) के नेता अमित जोगी के खिलाफ अब एफआईआर दर्ज होगी. राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने अमित जोगी पर एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं. छानबीन समिति की जाँच में ये बात सामने आई है कि अमित जोगी कंवर आदिवासी नहीं है. अमित जोगी ने कंवर आदिवासी का जाति प्रमाण पत्र धोखे से बनवाया है. आज अमित जोगी को बड़ा झटका लगा है. राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने अमित जोगी के कास्ट सर्टिफिकेट को निरस्त कर दिया है. हालाँकि अभी मरवाही उप चुनाव के लिए अमित जोगी द्वारा भरे गए नामांकन को रद्द नहीं किया गया है.

जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के बाद अब देखना होगा कि अमित जोगी मरवाही उपचुनाव लड़ पाएंगे या नहीं. माना जा रहा है कि जाति प्रमाण पत्र निरस्त होते ही अमित जोगी द्वारा मरवाही उपचुनाव के लिए भरा गया नामांकन स्वमेव ही शून्य घोषित हो गया है. ऐसे में अमित जोगी मरवाही उपचुनाव नहीं लड़ पाएंगे. इधर अमित जोगी ने अमित जोगी ने इस संबंध में अपना पक्ष रखने के लिए दो दिन का वक्त मांगा है. बता दें कि 31 अक्टूबर 2013 को अमित जोगी को कंवर जाति का प्रमाण पत्र जारी किया गया था. जारी किये गए इस प्रमाण पत्र को राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने निरस्त कर दिया है.

इधर, अतिम जोगी ने ट्वीट कर कहा कि कल रातों रात उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति ने मेरा प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया. इसकी खबर मुझे छोड़ बाकी सबको थी। मैंने उसे पढ़ने के लिए समय माँगा, वो भी नहीं दिया, इसके साथ उन्होंने शेर भी लिखा:

कातिल ही मुनसिफ है,
क्या मेरे हक में फैसला देगा।।

बाद में एक और शेर ट्वीट् किया:

गुनाह करके कहां जाओगे गालिब
ये जमीं ये आसमां सब उसी का है ।