सीआईएल की अनुषांगिक कंपनियों में तय मानक से कम हैं ओवरमैन एवं माइनिंग सरदार, मांगा गया है प्रस्ताव

खान सुरक्षा महानिदेशालय ने कोयला समेत सभी धात्विक खदानों में खनन के दौरान माइनिग सरदार और ओवरमैन की संख्या निर्धारित कर रखी है। ताजा आंकड़े बताते हैं कि कोल इंडिया की कोई भी अनुषंगी कंपनी इन मानकों पर खरा नहीं उतर रही हैं। माइनिंग सरदार और ओवरमैन की कमी है।

कोल इंडिया स्तर पर भी सभी कंपनियों को मिलाकर 5247 ओवरमैन की जरूरत है। फिलहाल 5002 ही कार्यरत हैं। वहीं 6265 माइनिग सरदारों की जगह 5247 ही काम कर रहे हैं। कुल 1028 की कमी है।

बनाई कमेटी:

कोल इंडिया प्रबंधन ने अब इन पदों पर कमी को देखते हुए विभिन्न अनुषंगी कंपनियों को पत्र लिखा है। कोल इंडिया के एस एंड आर महाप्रबंधक एसके श्रीवास्तव ने सभी अनुषंगी कंपनियों के एस एंड आर महाप्रबंधकों को पत्र लिखकर इन दोनों पदों की सूची बनाकर आठ अप्रैल तक कोल इंडिया मुख्यालय को भेजने को कहा है। बता दें कि कोल इंडिया ने इन पदों पर कमी की जानकारी के लिए एस एंड आर महाप्रबंधक की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई थी। कमेटी ने कमी की सूची बनाकर कंपनी को सौंप दी है। अब उसके अनुसार विभिन्न कंपनियों से जरूरत के अनुसार कर्मियों की मांग करने को कहा गया है।

ओवरमैन की स्थिति:

कंपनी – आनरोल – जरूरत

  • ईसीएल – 858 -1005
  • बीसीसीएल – 654 – 755
  • सीसीएल – 574 – 754
  • डब्ल्यूसीएल – 816 – 922
  • एनसीएल – 479-  546
  • एसईसीएल – 1031 – 1094
  • एमसीएल – 575 – 663
  • एनईसी – 15 – 15

माइनिंग सरदार की स्थिति:

कंपनी – आनरोल – जरूरत

  • ईसीएल – 1136 – 1303
  • बीसीसीएल – 465 – 595
  • सीसीएल – 735 – 890
  • डब्ल्यूसीएल – 1147 – 1298
  • एनसीएल – 136 – 201
  • एसईसीएल – 1381 – 1494
  • एमसीएल – 208 – 464
  • एनईसी – 40 – 20