खनिज खनन क्षेत्र में रिफार्म : केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने लगाई मुहर, कैप्टिव और नाॅन कैप्टिव माइंस में अंतर होगा दूर

नई दिल्ली (IP News). बुधवार को केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने खनिज खनन क्षेत्र में सुधारों को मंजूरी दे दी। इसके तहत खान और खनिज (विकास और विनियमन) (एमएमडीआर) अधिनियम में संशोधन किया जाएगा। जानकारी के अनुसार रिफार्म का उद्देश्य कैप्टिव और नाॅन कैप्टिव माइंस में अंतर को दूर करना भी है। ताकि नीलामी के लिए अधिक से अधिक खदानें उपलब्ध हो सकें।

इसे भी पढ़ें: दो माह बाद 12 घण्टे करनी होगी ड्यूटी! कर्मचारियों को 5-5 घण्टे में आधे- आधे घण्टे का मिलेगा ब्रेक, प्रस्ताव पेश

यहां बताना होगा कि वित्त मंत्री सीतारमण ने बीते वर्ष मई में आत्मनिर्भर भारत के तहत खनिज क्षेत्र में बड़े सुधार का ऐलान किया था। 500 खनिज ब्लाॅक की नीलामी की बात भी कही गई थी। बताया गया है कि हर साल भारत ढाई लाख करोड़ रुपए के खनिज का आयात करता है।