सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र ने 10 साल पुराने दैनिक हाट मेटल उत्पादन के कीर्तिमान को ध्वस्त किया

सेल के किसी भी संयंत्र द्वारा किया गया अब तक का सर्वश्रेष्ठ दैनिक उत्पादन

भिलाई (IP News). 14 जनवरी का दिन धमन भट्टी, सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के लिए स्वर्णिम कीर्तिमान का दिन है। इस दिन लगभग 10 साल पुराने उत्पादन के कीर्तिमान को पार कर धमन भट्टी ने 18,208 टन का उत्पादन कर नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया । यह दैनिक उत्पादन सेल के किसी भी अन्य सयंत्र में अब तक का सर्वश्रेष्ठ है।
इस यादगार अवसर पर सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अनिर्बान दासगुप्ता ने धमन भट्टी बिरादरी को स्वयं पहुंचकर बधाई दी और धमन भट्टी बिरादरी पर विश्वास व्यक्त करते हुए भविष्य में और अधिक उत्पादन कीर्तिमानो को स्थापित करने हेतु अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की। श्री दासगुप्ता ने ब्लास्ट फर्नेस टीम के साथ अन्य सभी संबंधित सहयोगी विभागों को उनके योगदान के लिए बधाई देते हुए उच्च निष्पादन दर को लगातार बनाये रखने पर जोर दिया। निदेशक प्रभारी ने सेल के अन्य निदेशक और सयंत्र के पूर्व सी इ ओ के बधाइयों का भी जिक्र किया। उन्होंने ब्लास्ट फर्नेस-8 महामाया के टीम को सीडीआई रेट में हासिल की गयी नए रिकॉर्ड के लिए बधाई देते हुए संयंत्र के कोक ओवेंस, सिंटर प्लांट को इसे हासिल करने के लिए उनके योगदान का जिक्र किया। उन्होंने कहा, टीम भिलाई को अब सारी अपेक्षाओं पर खरा उतरना है । इस ऐतिहासिक अवसर पर मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (आयरन) श्री सूर्यवंशी, महाप्रबंधक प्रभारी (धमन भट्टी) श्री दास गुप्ता के साथ साथ कोक ओवेन, ओर हैंडलिंग प्लांट, टी एंड डी एवं अन्य सहायक विभागों के विभागाध्यक्ष भी उपस्थित थे।
सयंत्र के कार्यपालक निदेशक (संकार्य) राजीव सहगल तथा कार्यपालक निदेशक (पी एंड ए) सुरेश दुबे ने भी ऑफिसर्स एसोसिएशन तथा वर्कर्स यूनियन के सदस्यों से मिलकर उनके माध्यम से सम्पूर्ण भिलाई बिरादरी को रिकॉर्ड उत्पादन के लिए बधाई दी और उच्च निष्पादन स्तर को बनाये रखने हेतु उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया. कार्यपालक निदेशक (संकार्य) ने कहा की ये रिकॉर्ड इस वित्तीय वर्ष के बचे हुए महीनो में हम भिलाई इस्पात संयंत्र से अपेक्षाओं और उम्मीदों पर खरा उतरें, इस दिशा में एक ठोस कदम है.
जनवरी 2021 माह में नए रिकॉर्ड बनाने के क्रम में 14 जनवरी 2021 को संयंत्र के धमन भट्टियों ने दैनिक हाट मेटल उत्पादन में जो दस साल पुराना रिकॉर्ड को तोड़ा, वो 14 अगस्त 2010 को बनाया गया 18,182 टन था।
जनवरी 2021 माह में संयंत्र के कई विभागों ने अपने निष्पादन को बेहतर किया है। जहाँ बार एंड राड मिल ने नए रिकॉर्ड बनाये, वहीँ एस एम् एस 2 और 3 के भी अपना निष्पादन में भी लगातार वृद्धि हो रही है। सयंत्र के ओर हैण्डलिंग प्लांट और आर एम् पी ने भी अपना निष्पादन को बेहतर किया है।
ज्ञात हो कि 13 जनवरी 2021 को संयंत्र के पांच धमन भट्टियों ने मिल कर सर्वाधिक 17,525 टन हाट मेटल उत्पादन किया। 11 जनवरी 21 को संयंत्र ने 17,156 टन का सर्वाधिक दैनिक हाट मेटल उत्पादन कर 10 जनवरी 21 को कायम 17,071 टन के रिकॉर्ड हाट मेटल उत्पादन को पीछे छोड़ते हुए नया कीर्तिमान स्थापित किया था । विदित हो कि इससे पूर्व 09 जनवरी 21 को 17,050 टन का उत्पादन कर रिकार्ड बनाया गया था।
कीर्तिमानों के क्रम में ब्लास्ट फर्नेस-8 महामाया ने टेक्नो-इकानामिक्स के क्षेत्र में लगातार तीसरे दिन कोल्ड डस्ट इंजेक्शन दर का कीर्तिमान रचते हुए 13 जनवरी 2021 को 182 किलो प्रति टन हाट मेटल के कोल्ड डस्ट इंजेक्शन दर (सीडीआई रेट) हासिल किया। विदित हो कि इससे पूर्व 12 जनवरी 2021 को ब्लास्ट फर्नेस-8 ने 180 किलो प्रति टन हाट मेटल के कोल्ड डस्ट इंजेक्शन और 11 जनवरी 2021 को 178 किलो प्रति टन हाट मेटल के कोल्ड डस्ट इंजेक्शन दर प्राप्त कर रिकॉर्ड बनाये थे । ये सभी सीडीआई रेट सेल के समान क्षमता वाले आइसपी, बर्नपुर तथा आरएसपी, राउरकेला के ब्लास्ट फर्नेसों से कहीं अधिक है।
सयंत्र के बार एवं राड मिल ने भी 14 जनवरी 2021 को नए रिकॉर्ड बनाते हुए 1110 बिल्लेट की रोलिंग कर 2299 टन उत्पादन किया। इसी दिन सी शिफ्ट में 453 बिल्लेट रोल कर नया शिफ्ट रिकॉर्ड बनाया गया। इसके पूर्व 12 सितम्बर 2020 को मिल ने 1077 बिलेट रोल कर 2231 टन उत्पादन रिकॉर्ड बनाया था। 5 जनवरी 2021 के बी शिफ्ट में 450 बिलेट उत्पादन किया गया था जो उस समय तक का रिकॉर्ड था।
एस एम् एस 3 ने भी जनवरी 2021 माह में अपना निष्पादन स्तर को लगातार ऊँचा रखते हुए 14 जनवरी 2021 तक औसत 43 हीट्स दैनिक उत्पादन हासिल किया है. जहाँ 10 और 14 जनवरी 2021 को एस एम् एस 3 ने 50 हीट्स बनाया वहीं 11 जनवरी 2021 को अपना सर्वाधिक 51 हीट्स उत्पादन किया. वहीँ एस एम् एस 2 के भी अपना निष्पादन में भी लगातार वृद्धि करते हुए जनवरी 2021 माह में लगातार 63 हीट्स से अधिक उत्पादन किया है।
13 जनवरी 2021 को सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के ओर हैण्डलिंग प्लांट ने भी नया कीर्तिमान दर्ज किया। एक दिन में 34,580 टन कुल रा मटेरिअल डिस्पेच कर ओर हैण्डलिंग प्लांट ने अपना पिछला 31 जनवरी 2020 को बनाये 34200 टन के रिकॉर्ड को ध्वस्त किया। सयंत्र के रेल मिल ने भी 11 जनवरी 2021 को थिक वेब असिमेत्ट्रिक रेल में नया रिकॉर्ड हासिल किया। सयंत्र के आर एम् पी ने भी अपना निष्पादन को बेहतर किया है।
ऑफिसर एसोसियेशन तथा वर्कर्स यूनियन के सदस्यों से मुलाकात के दौरान सयंत्र के कार्यपालक निदेशक (संकार्य) राजीव सहगल तथा कार्यपालक निदेशक (पी एंड ए) सुरेश दुबे ने बेहतर एवं अनवरत निष्पादन हेतु प्रबंधन द्वारा कई क्षत्रों में लिए जा रहे क़दमों के सम्बन्ध में जानकारी दी तथा उनके सुझाव पर गौर किया। कार्यपालक निदेशक (संकार्य) ने सेकंडरी सलेस के मध्य से अधिक राजस्व अर्जित किये जाने की जानकारी दी।
वर्कर्स यूनियन के प्रतिनिधियों द्वारा दिए गए सुझावों पर कार्यपालक निदेशक (संकार्य) एवं कार्यपालक निदेशक (पी एंड ए) द्वारा सयंत्र में कैंटीन व्यवस्था, रेस्ट रूम एवं टोयलेट की सफाई एवं रखरखाव, सेनीटाइजेशन तथा बोरिया गेट में सड़क सुरक्षा हेतु उठाये जा रहे क़दमों के बारे में जानकारी दी गयी। कार्यपालक निदेशक (संकार्य) श्री राजीव सहगल ने सभी कार्मिकों को अपनी स्वयं की सुरक्षा का विशेष ध्यान देने तथा कार्य के दौरान सुरक्षा मानकों का पालन करने हेतु आव्हान किया।