Live Update : कोयला मंत्री जोशी ने एसईसीएल दीपका व गेवरा माइंस का लिया जायजा, साइलो लोडिंग सिस्टम को भी देखा, कहा – उत्पादन व डिस्पैच बढ़ाओ

श्री जोशी ने वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की और उनसे कोयला उत्पादन एवं डिस्पैच बढ़ाने का आह्वान किया।

कोरबा। बुधवार को केंद्रीय कोयला मंत्री प्रल्हाद जोशी ने एसईसीएल की दीपका व गेवरा खदान का दौरा किया। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में अवस्थित 35 मिलियन टन क्षमता की यह खदान भारत की सबसे बड़ी कोयला खदानों में से एक है। श्री जोशी ने वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत की और उनसे कोयला उत्पादन एवं डिस्पैच बढ़ाने का आह्वान किया।

दीपका कोयला खदान के साइलो लोडिंग सिस्टम का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों को सभी बाधाएं दूर कर थर्मल पावर प्लांट्स को कोयला डिस्पैच बढ़ाने के लिए काम करने का निर्देश दिया।

कोयला मंत्री ने छत्तीसगढ़ के दीपका कोयला खदान की रेलवे साइडिंग का दौरा किया। साइडिंग यार्ड में कोयला स्टॉक की स्थिति का अवलोकन किया और साइडिंग प्रभारी एवं अन्य अधिकारियों के साथ बातचीत की। दीपका खदान के बाद श्री जोशी गेवरा माइंस पहुंचे।

गेवरा कोयला खदान भारत की सबसे बड़ी ओपनकास्ट कोयला खदान है। श्री जोशी ने इस खदान का दौरा किया और वहां के जमीनी हालत समझने के लिए खदान के महाप्रबंधक एसके मोहंती एवं उनकी टीम से बातचीत की। कोयला मंत्री ने खदान से कोयला उत्पादन बढ़ाने के लिए टीम गेवरा का उत्साहवर्धन किया।