‘पूछता है भारत’ के लिए अर्नब गोस्वामी आपको गिरफ्तार क्यों न किया जायेः पूछती है ‘मुंबई पुलिस’

टीआरपी के मामले के बाद मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक चैनल के संपादक अर्नब गोस्वामी को एक और झटका दिया है। महाराष्ट्र टाइम्स की खबर के अनुसार मुंबई पुलिस ने गोस्वामी को एक कारण बताओ नोटिस जारी की है और उनसे पूछा है कि आपको पूछता है भारत शो के लिए गिरफ्तार क्यों न किया जाये। मुंबई पुलिस का आरोप है कि अर्नब अपने शो में भड़काऊ बातें कहते हैं। इससे सांप्रदायिक तनाव फैल सकता है। इसीलिए क्यों नहीं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

मुंबई पुलिस के वरली विभाग के एसीपी ने क्रिमिनल प्रोसिजर कोड की धारा 11 के तहत अर्नब को नोटिस भेजकर 16 अक्टूबर को अपने कार्यालय में बुलाया है। इस नोटिस के कहा गया है कि अर्नब आगे से कोई भी सांप्रदायिक भावना भड़काने का काम नहीं करेंगे। इसलिए वह 16 अक्टूबर को एसीपी के सामने पेश होकर 10 लाख रुपये का बॉन्ड भरें।

अर्नब गोस्वामी के हिंदी चैनल पर पूछता है भारत और रिपब्लिक टीवी अंग्रेजी न्यूज चैनल पर द डिबेट ये दोनों प्राइम शो मुंबई पुलिस की रडार पर हैं। पुलिस का कहना है कि पालघर में संतों की हत्या पर अर्नब ने अपने शो में धार्मिक भावनाएं भड़काने का काम किया। दूसरा मामला बांद्रा में जमा हुई भीड़ का है। पुलिस द्वारा जारी की गई नोटिस में कहा गया है कि दोनों कार्यक्रमों के दौरान लॉकडाउन होने की वजह से दंगा भड़कने से बच गया।

बता दें कि पालघर में संतों की हत्या के बाद अर्नब के शो पर आपत्ति जताते हुए नितिन राउत ने ना. म. जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज करवाई थी उनका आरोप था कि अर्नव का ये शो हिंदु-मुस्लिम के बीच द्वेष बढ़ाने वाला है। नितिन राउत की शिकायत के आधार पर पुलिस ने विविध धाराओं में अपराध दर्ज किया था। इसी अपराध के आधार पर अर्नब गोस्वामी को नोटिस भेजा गया है।