म्यूचुअल फंड की खरीद-बिक्री का समय बदला, 3 बजे तक कर सकेंगे खरीदारी, जानें कब से लागू होगा नया नियम

शेयर मार्केट रेगुलेटर सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने इक्विटी म्यूचुअल फंड (Equity Mutual Funds) की खरीद और बिक्री का समय फिर से 3 बजे तक कर दिया है। इससे निवेशकों को म्यूचुअल फंड खरीदने और बेचने के लिए अधिक समय मिलेगा। हालांकि,  डेट म्यूचुअल फंड स्कीम (debt schemes) और कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड्स (conservative hybrid fund) की खरीद बिक्री के समय में बदलाव नहीं किया गया है। म्यूचुअल फंड की खरीद-बिक्री का यह नया टाइम टेबल 19 अक्टूबर से लागू होगा। SEBI के इस फैसले की जानकारी देते हुए म्यूचुअल फंड को रेग्युलेट करने वाली संस्था एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया (AMFI ) के चेयरमैन निलेश शाह ने ट्वीट किया कि शाह ने कहा कि इक्विटी म्यूचुअल फंड के कटऑफ टाइमिंग में बदलाव किया गया है।

निलेश शाह ने ट्वीट किया, अब इक्विटी म्यूचुअल फंड की यूनिट को खरीदना हो या बेचना हो, दोनों के लिए तीन बजे का समय होगा। सभी स्कीम्स के सब्क्रिप्शन और रिडिम्पशन का कट ऑफ टाइम फिर से 3 बजे हो गया है, सिर्फ उन फंड्स को छोड़कर जो डेट और कंजर्वेटिव हाइब्रिड फंड्स की कैटेगरी में आते हैं। यह इक्विटी म्यूचुअल फंड की सभी स्कीम के लिए लागू होगा। लेकिन डेट स्कीम (debt schemes) और कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड्स की खरीद-बिक्री का समय SEBI के अगले आदेश तक नहीं बदलेगा। बता दें कि सेबी ने कुछ ही समय पहले 3 बजे के समय को बदलकर 12.30 कर दिया था। अब फिर से इसे उसी पुराने समय पर लाया जा रहा है। इसका फायदा यह होगा कि निवेशकों के पास उस दिन की NAV (Net Asset Value) पाने के लिए अब ज्यादा समय होगा।

अप्रैल में बदला था समय

SEBI ने अप्रैल में कोरोना वायरस महामारी के कारण म्यूचुअल फंड यूनिट्स की खरीदी और बिक्री के लिए कट ऑफ टाइम को कम कर दिया था। इसमें लिक्विड और ओवरनाइट स्कीम भी शामिल थीं। लिक्विड और ओवरनाइट फंड की खरीद और बिक्री के लिए 12.30 से 1.30 तक का समय है। वहीं, डेट और कंजरवेटिव हाइब्रिड फंड्स के लिए यह समय 1 बजे का है।