कोयला मंत्रालय ने 40 नई कोयला खदानों के लिए नी‍लामी प्रक्रिया शुरू की

कोयला मंत्रालय ने आज 40 नई कोयला खदानों के लिए नी‍लामी प्रक्रिया शुरू की। मंत्रालय ने कहा है कि कुल 88 कोयला खदानों की नीलामी की जा रही हैं, इनमें से 40 नई और 48 पिछली नीलामी से बची खदानें हैं।

कोयला मंत्रालय ने आज 40 नई कोयला खदानों के लिए नी‍लामी प्रक्रिया शुरू की। मंत्रालय ने कहा है कि कुल 88 कोयला खदानों की नीलामी की जा रही हैं, इनमें से 40 नई और 48 पिछली नीलामी से बची खदानें हैं। लगभग 55 अरब टन कोयले की नीलामी की जानी है।

मंत्रालय ने कहा कि चार कोकिंग कोयला खदानों की नीलामी होनी है। ये खानें 10 राज्‍यों -झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, अरुणाचल प्रदेश और असम में हैं।

इस अवसर पर कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में सरकार कोयला क्षेत्र में निरंतर सुधार कर रही है। उन्‍होंने कहा कि कोविड काल से पहले के समय की तुलना में बिजली की मांग लगभग 20 प्रतिशत बढ़ गई है।

उन्‍होंने कहा कि भारत उन देशों में शामिल है, जहां विकसित देशों की तुलना में प्रति व्‍यक्ति बिजली खपत सबसे कम है। उन्‍होंने कहा कि सरकार द्वारा दूरस्‍थ क्षेत्रों में बिजली पहुंचाने से 2040 तक देश में बिजली की मांग दोगुना होने की संभावना है।