Airforce Day: आसमान में दिखी भारतीय वायुसेना की ताकत, दुनिया ने देखा राफेल, सुखोई, तेजस और जगुआर का दम

वायुसेना आज गुरुवार को अपना गौरवशाली 88 वां स्थापना दिवस मना रही है। भारत की वायु शक्ति की गर्जना आज राजधानी दिल्ली के करीब हिंडन एयर बेस पर देखने को मिली। कुल 56 एयरक्राफ्ट इस बार हिंडन में हिस्सा लिया। इसमें राफेल, सुखोई, मिग 29, मिराज, जगुआर और तेजस शामिल हैं। जिसने इस मौके पर अपना दम दिखाया। इस दौरान हिंडन एयरबेस पर जबरदस्त फ्लाई पास्ट देखने को मिला।

सबसे पहले बात करते है राफेल की। वायुसेना दिवस के मौके पर आज राफेल ने भारतीय आकाश में गर्जना की।

इसके बाद स्वदेशी और सबसे हल्के लड़ाकू विमान तेजस ने अपना दम दिखाया। यही नहीं इस दौरान चिनूक हेलीकॉप्टर, अपाचे हेलीकॉप्टर, ग्लोबमास्टर, सुखोई इत्यादि लड़ाकू विमानों ने हिंडन एयरबेस पर अपना दम-खम दिखाया।

गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर हुए विशेष कार्यक्रम में वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने संबोधित किया। उन्होंने कहा, भारतीय वायुसेना देश को आश्वस्त करती है कि भारत की अस्मिता और रक्षा के लिए हमेशा तत्पर है।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में पड़ोसियों की बढती महत्वाकांक्षा से उत्पन्न खतरे और चुनौती से निपटने के लिए वायु सेना पूरी तरह तैयार है और पिछले दिनों जरूरत पड़ने पर बल ने तुरंत जरूरी कार्रवाई कर अपनी क्षमता और संचालन कुशलता का परिचय दिया है। वायु सेना प्रमुख ने कहा कि यह समय की जरूरत है कि वायु सेना हर तरह से मजबूत बने और चुनौतियों की कसौटियों पर खरी उतरे साथ ही यह आत्मनिर्भर भारत के लिए भी जरूरी है। इस मौके पर उन्होंने वायु सेना रणबांकुरों को उनकी बहादुरी तथा सेवा समर्पण और कर्तव्यपरायणता के लिए पदकों से सम्मानित भी किया।