अमित जोगी के मैदान पर आने से दिलचस्प होगी मरवाही उप चुनाव की जंग, कांग्रेस पहले दिन से ही सीट फतह करने की जुगत में, भाजपा ने गंभीर को उतारा पर “गंभीर” नहीं!

कोरबा (IP News). जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेता अमित जोगी ने मरवाही विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। यानी यह उप चुनाव अब और दिलचस्प हो जाएगा। छोटे जोगी 16 अक्टूबर को नामांकन दाखिल करेंगे। कांग्रेस ने डा. कृष्ण कुमार व और भाजपा ने डा. गंभीर को चुनावी मैदान पर उतारा है। नए जिले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही की यह सीट आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित है।

मरवाही विधानसभा क्षेत्र 2003 के चुनाव से ही जोगी परिवार के पास रहा है। चुंकि यह सीट अजीत जोगी के निधन से रिक्त हुई है। लिहाजा उनके प्रति सहानुभूति की लहर एक बड़ा फैक्टर होगी। इसके मद्देनजर ही कांग्रेस अजीत जोगी के निधन के बाद से ही मरवाही को फतह को करने में जुट गई है। इस लिहाज से ही क्षेत्र को सौगातों पर सौंगातें दी गई। जिले के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल पहले दिन से ही यहां डटे हुए हैं।

जोगी परिवार का कोई सदस्य चुनाव न लड़े इसके लिए भी तमाम तरह की अड़चने उत्पन्न करने का प्रयास किया गया। इसी के तहत ऋचा जोगी के जाति प्रमाण पत्र को उलझाया गया। इधर, अमित जोगी के चुनाव लड़ने की घोषणा से कड़े मुकाबले की स्थिति बनेगी, ऐसा माना जा रहा है। कांग्रेस के लिए यह उप चुनाव एक चुनौती है, क्योंकि पार्टी सत्ता में है। भाजपा भी जोर लगा रही है, लेकिन पार्टी में चुनाव जीतने की जुगत जैसी स्थिति नहीं दिख रही है। 16 अक्टूबर नामांकन दाखिले की अंतिम तारीख है। 3 नवम्बर को मतदान होेना है और 10 नवम्बर को मतगणना।

2018 में जकांछ व कांग्रेस के बीच 54,001 मतों का था अंतर

2018 के चुनाव में अजीत जोगी ने अपनी नई पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के बैनर तले 74,041 मत अर्जित कर विजय हासिल की थी। कांग्रेस प्रत्याशी गुलाब सिंह राज को 20,040 वोट मिले थे और वे तीसरे स्थान पर थे। 27,579 मतों के साथ भाजपा उम्मीदवार अर्चना पोर्ते दूसरे नम्बर पर थीं। जकांछ व कांग्रेस के बीच 54,001 मतों का अंतर था। इसके पहले जोगी ने 2003, 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की टिकट से इस क्षेत्र को फतह किया था। जीत के आंकड़े बताते हैं कि उनकी मरवाही सीट पर कितनी पकड़ रही है।