प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्‍ट्रीय मास्‍टर प्‍लान का शुभारंभ किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नई दिल्‍ली के प्रगति मैदान में प्रधानमंत्री गति शक्ति - राष्‍ट्रीय मल्‍टी मॉडल कनेक्टिविटी मास्‍टर प्‍लान का शुभारंभ किया और भारतीय व्‍यापार संवर्धन संगठन में नए प्रदर्शनी परिसर का उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नई दिल्‍ली के प्रगति मैदान में प्रधानमंत्री गति शक्ति – राष्‍ट्रीय मल्‍टी मॉडल कनेक्टिविटी मास्‍टर प्‍लान का शुभारंभ किया और भारतीय व्‍यापार संवर्धन संगठन में नए प्रदर्शनी परिसर का उद्घाटन किया। उन्‍होंने नये प्रदर्शनी परिसर मॉडल को भी देखा। प्रधानमंत्री ने अपने सम्‍बोधन में कहा कि यह मास्टर प्लान 21वीं सदी के भारत को मल्टीमॉडल कनेक्टिविटी और अगली पीढ़ी के बुनियादी ढांचे को गतिशक्ति प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि यह मास्‍टर प्‍लान सरकारी प्रक्रियाओं को सरल बनाएगा, हितधारकों को साथ लाने तथा परिवहन के साधनों को एक साथ जोडने में मदद करेगा। उन्होंने कहा कि यह समग्र शासन का विस्तार है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का भारत पुरानी सोच को पीछे छोड़कर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि प्रगति के लिए इच्छा शक्ति, कार्य, धन उपलब्‍ध कराना, योजना और प्राथमिकताएं आज का मंत्र है। श्री मोदी ने कहा कि बुनियादी ढांचे का विषय अधिकांश राजनीतिक दलों की प्राथमिकता नहीं रही और न ही उनके घोषणापत्र में दिखाई दी। उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक दल देश के लिए जरूरी बुनियादी ढांचे के निर्माण की आलोचना करने में गर्व महसूस करते हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि बेहतर बुनियादी ढांचे के निर्माण से सतत विकास होता है और आर्थिक गतिविधियों तथा बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा होते हैं।

श्री मोदी ने कहा कि गतिशक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान निवेशकों और देश की नीति निर्माण में शामिल सभी हितधारकों को विश्लेषणात्मक और निर्णय लेने का माध्‍यम भी प्रदान करेगा। सरकार को प्रभावी योजनाएं और नीतियां बनाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए यह महत्वपूर्ण है कि ढांचागत विकास से जुड़े सभी विभाग एक साथ आएं और एक दूसरे की शक्ति का इस्तेमाल करें। इस दृष्टिकोण ने पिछले कुछ वर्षों में देश को अभूतपूर्व गति प्रदान की है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 से पहले के पांच वर्षों में केवल 3 हजार किलोमीटर रेल मार्गों का विद्युतीकरण किया गया था जबकि पिछले 7 वर्षों में 24 हजार किलोमीटर से अधिक रेल मार्गों का विद्युतीकरण किया गया है। 2004 से पहले केवल 60 पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया था लेकिन पिछले 7 वर्षों में डेढ लाख से अधिक ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है। भारत को अंतर्देशीय जलमार्ग और समुद्री विमानों के क्षेत्र में भी नया बुनियादी ढांचा मिला है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में 2014 में सिर्फ पांच जलमार्ग थे, लेकिन आज देश में 13 जलमार्ग काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हवाई संपर्क में सुधार के लिए नए हवाई अड्डे बनाए गए और हवाई क्षेत्र का विस्‍तार किया गया।

वाणिज्‍य मंत्री पीयूष गोयल ने इस अवसर पर कहा कि भारत तेजी से प्रगति के पथ पर है और प्रधानमंत्री गति शक्ति राष्‍ट्रीय मास्‍टर प्‍लान श्री मोदी की दूरदृष्टि का प्रतीक है। इस मास्‍टर प्‍लान से देश में बुनियादी ढांचे का नया प्रारूप उपलब्‍ध होगा और चल रही योजनाओं को मूर्तरूप देने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि सभी मंत्रालयों, राज्य सरकारों और केंद्र सरकार के समन्वय से यह मास्‍टर प्‍लान बनाया गया है। श्री गोयल ने कहा कि एनडीए सरकार देश के लोगों के लिए जीएसटी, आधार, रुपे कार्ड, वन नेशन वन राशन कार्ड सहित कई योजनाएं लेकर आयी। श्री गोयल ने कहा कि कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड़ लोगों को 15 महीनों के लिए मुफ्त राशन मिला है।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …