राजस्थान रॉयल्स और श्नाइडर इलेक्ट्रिक आईपीएल 2022 सीजन का पहला कार्बन न्यूट्रल क्रिकेट मैच आयोजित करेंगे

राजस्थान रॉयल्स टीम और प्रबंधन अपना पहला कार्बन न्यूट्रल मैच खेलने की योजना बनाकर ‘ग्रीन योद्धा' बने, श्नाइडर इलेक्ट्रिक ने 11 मई को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ रॉयल्स के मैच से उत्पन्न होने वाले कार्बन फुटप्रिंट को प्रतिसंतुलित करने का वादा किया

09 मई, 2022: ऊर्जा प्रबंधन और स्वचालन के डिजिटल परिवर्तन में अग्रणी, श्नाइडर इलेक्ट्रिक और आईपीएल फ्रेंचाइजी, राजस्थान रॉयल्स ने क्रिकेट प्रेमियों के लिए अपने तरह का अनूठा सस्टेनेबल मैच लाने की आज घोषणा की।

राजस्थान रॉयल्स ने ग्रीन योद्धा बनने और क्रिकेट को पर्यावरण के अनुकूल खेल में बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का वादा किया। एक सामान्य आईपीएल क्रिकेट मैच के दौरान लगभग 10,000 टन कार्बन डाइ-ऑक्साइड के बराबर का उत्सर्जन होता है, और श्नाइडर इलेक्ट्रिक 11 मई, 2022 को दिल्ली कैपिटल्स के साथ राजस्थान रॉयल्स के मैच के दौरान उत्पन्न इस कार्बन फुटप्रिंट का प्रतिसंतुलन यानि कि क्षतिपूर्ति लगभग 17,000 पेड़ लगाकर करेगा।

ग्रीन योद्धा, श्नाइडर इलेक्ट्रिक द्वारा की गई एक सस्टेनेबिलिटी पहल है जिसका उद्देश्य जागरूक नागरिकों, संगठनों और व्यवसायों की एक टीम का निर्माण करना है जो सामूहिक जलवायु के अनुकूल कार्यों और समाधानों को अपनाने में एकजुट हों।

दुनिया भर में क्रिकेट की लोकप्रियता और दर्शक क्षमता को देखते हुए पिछले कुछ वर्षों में कार्बन फुटप्रिंट में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। प्रशंसकों और टीमों द्वारा बिजली की खपत में की गई कई वृद्धि के परिणामस्वरूप कार्बन उत्सर्जन में वृद्धि हुई है। ‘ट्रांसफॉर्मिंग सोसाइटी थ्रू क्रिकेट’ के विजन के साथ राजस्थान रॉयल्स ने कार्बन न्यूट्रल मैच के अनुरूप कदम के साथ इस कार्बन फुटप्रिंट को कम करने के लिए श्नाइडर इलेक्ट्रिक के साथ साझेदारी की है।

राजस्थान रॉयल्स के चेयरमैन, रंजीत बारठाकुर ने कहा, “ समय के साथ, क्रिकेट ने एक ऐसी संस्था के रूप में कार्य किया है जिसने समाज पर सकारात्मक प्रभाव डाला है, और रॉयल्स के ‘नवाचार के माध्यम से क्रिकेट और क्रिकेट के माध्यम से समाज को बदलने’ के हमारे उद्देश्य को देखते हुए, हमें श्नाइडर इलेक्ट्रिक के साथ ग्रीन योद्धा की शपथ लेने पर गर्व है। इस असाधारण गठबंधन के माध्यम से हमारा उद्देश्य पर्यावरण के मुद्दों के बारे में दुनिया भर में अपने प्रशंसकों को जागरुक करना है, और साथ ही उन्हें जलवायु के प्रति सजग होने के लिए भी प्रोत्साहित करना है। हालांकि यह वृक्षारोपण अभियान सिर्फ शुरुआत है, हमारा दूरगामी उद्देश्य लगातार श्नाइडर में हमारे दोस्तों का समर्थन करने में मदद करना है ताकि वे साधन के रूप में क्रिकेट का उपयोग करके समाज के लिए स्थायी भविष्य बनाने के तरीके तलाश सकें।”

श्नाइडर इलेक्ट्रिक इंडिया के मैनेजिंग डाइरेक्टर और चीफ एक्जीक्यूटिव ऑफिसर एवं ग्रेटर इंडिया के जोन प्रेसिडेंट, अनिल चौधरी ने कहा, “मैं हमेशा से क्रिकेट का प्रशंसक रहा हूं और इस खेल को बहुत उत्साह के साथ देखने की प्रतीक्षा रहती है। हालांकि, मैं कार्बन उत्सर्जन को लेकर भी सजग हूं जो सभी क्रिकेट मैचों से जुड़ा हुआ है। आज जब हम जलवायु परिवर्तन की सबसे बड़ी चुनौती का सामना कर रहे हैं, मुझे लगा कि क्रिकेट को देखने का तरीका आनंदायक के साथ-साथ जिम्मेदारीपूर्ण होना चाहिए। राजस्थान रॉयल्स के साथ हमारी साझेदारी के माध्यम से, हम इस मैच को देखने वाले अरबों लोगों को दिखाना चाहते हैं कि क्रिकेट पर्यावरण के अनुकूल और सस्टेनेबल हो सकता है। और मुझे उम्मीद है कि यह हमारे घरों, व्यवसायों और दैनिक जीवन के लिए भविष्य में टिकाऊ रहने का मार्ग प्रशस्त करेगा। मैं राजस्थान रॉयल्स को ग्रीन योद्धा बनने पर बधाई देता हूं। ”

इस पहल के लिए सी-बैलेंस और नांगिया एंडरसन एलएलपी को नॉलेज पार्टनर के रूप में शामिल किया गया। उन्होंने मैच के कार्बन फुटप्रिंट की गणना की और क्रमशः कार्बन उत्सर्जन को बेअसर करने के लिए प्रतिसंतुलन रणनीति की पेशकश की। श्नाइडर इलेक्ट्रिक अगले छह महीनों में वृक्षारोपण करने के लिए कई एजेंसियों के साथ काम करेगा और 30 वर्षों की अवधि में 17000 पेड़ लगाकर इस कार्बन डाइ-ऑक्साइड उत्सर्जन को अलग करने के प्रयास किए जाएंगे, जिससे यह मैच 2052 तक कार्बन न्युट्रल हो जाए। जलवायु प्रदूषण से बचना और कम करना वैश्विक ताप को 1.50C तक सीमित करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय जलवायु परिवर्तन समझौतों को पूरा करने का एकमात्र साधन है।

चाहे ऑन-फील्ड हो या ऑफ-फील्ड, हर छोटी गतिविधि कार्बन फुटप्रिंट के रूप में हमारे पर्यावरण को प्रभावित करती है। क्रिकेट हमारे देश का सबसे पसंदीदा खेल है, यह साझेदारी खेलों के साथ स्थिरता को समामेलित करने की अत्यावश्यक चर्चा को आगे बढ़ाएगी।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …