पिता के इंतकाल के बाद सिराज को BCCI ने दिया भारत लौटने का ऑप्शन, तेज गेंदबाज ने लिया ये अहम फैसला

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पिता मोहम्मद गौस का शुक्रवार को इंतकाल हो गया। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए सिराज चार टेस्ट मैचों की आगामी सीरीज के लिए भारतीय टीम का हिस्सा हैं। पिता के निधन के बाद बीसीसीआई ने सिराज को भारत लौटने का ऑप्शन दिया था, लेकिन 26 वर्षीय गेंजबाज ने ऑस्ट्रेलिया में टीम के साथ ही रहने का फैसला किया है। बीसीसीआई ने शनिवार को एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। बता दें कि सिराज के पिता 53 वर्षीय पिता लंबे समय से फेफड़े की बीमारी से जूझ रहे थे।

‘बीसीसीआई मोहम्मद सिराज का दुख समझती है’

बीसीसीआई ने बयान में कहा, ‘गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने अपने पिता को खो दिया। बीसीसीआई ने सिराज के साथ बात की और उन्हें भारत लौटकर दुख के समय में अपने परिवार के साथ रहने का प्रस्ताव दिया। लेकिन गेंदबाज ने टीम के साथ रहने का फैसला किया है। बीसीसीआई उनका दुख समझती है और इस मुश्किल दौर में उनका साथ देगी।’ वहीं, बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने ट्वीट कर सिराज के पिता के निधन पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने लिखा,’सिराज को इस परिस्थिति का सामना करने के लिए मजबूती मिले। मैं इस दौरे पर उनकी सफलता के लिए शुभकामनाएं देता हूं। जबरदस्त जीवटता।’’

‘दौरे पर जाने से पहले पिता से बातचीत की थी’

एक क्रिकेटर के रूप में सिराज की सफलता में उनके पिता की अहम भूमिका रही और सीमित संसाधनों के बावजूद उन्होंने अपने बेटे की महत्वाकांक्षाओं का समर्थन किया। सिराज भारत के लिए अब तक टी20 अंतरराष्ट्रीय और एक वनडे मैच खेल चुके हैं। पिता के निधन सेपर सिराज ने कहा, ‘मेरा पिता हमेशा कहते थे, ‘मेरे बेटे, देश का नाम रोशन करना और मैं ऐसा जरूर करूंगा। मैंने ऑस्‍ट्रेलिया जाने से पहले अपने पिता से आखिरी बार बातचीत की थी। मेरे पिता ने जो मुश्किले सहन की, उसकी जानकारी मुझे थी। उन्‍होंने ऑटो रिक्‍शा चलाया ताकि मैं अपने क्रिकेट खेलने के अपने सपने को पूरा कर सकूं।’