26 की स्ट्राइक के लिए हुए एसईसीएल कुसमुंडा कन्वेंशन में श्रमिक नेता गरजे, कहा – मजदूर और किसान विरोधी केन्द्र सरकार को खदेड़ने का काम केवल ट्रेड यूनियन ही कर सकती है

कोरबा (IP News). देश के 10 ट्रेड यूनियन INTUC, AITUC, HMS, CITU, AIUTUC, TUCC, SEWA, AICCTU, LPF, UTUC द्वारा केन्द्र सरकार की मजदूर, किसान विरोधी नीतियों, सार्वजनिक उपक्रमों के निजीकरण की मुखालफत सहित 12 सूत्रीय मांगों को लेकर 26 नवम्बर को देशव्यपी आम हड़ताल का आव्हान किया गया है। यह हड़ताल कोयला उद्योग में भी होगी। हड़ताल को सफल बनाने श्रमिक संगठनों द्वारा तैयारी की जा रही है। इसी परिप्रेक्ष्य में कोल सेक्टर के विभिन्न क्षेत्र में बैठकों और कन्वेंशन आयोजित किए जा रहे हैें।

शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के कोरबा स्थित एसईसीएल कुसमुंडा में कन्वेंशन का आयोजन वरिष्ठ श्रमिक नेता मिलन पांडेय की अध्यक्षता में किया गया। इसमें सीटू, एटक, इंटक, एमएमएस तथा अन्य यूनियन के नेताओं और कामगारों ने भागीदारी की। हरिद्वार सिंह, जेएस सोढ़ी, एमडी वैष्णव, दीपेश मिश्रा, वीएम मनोहर, अरूण झा, गणपत चौहान ने अपना संबोधन दिया। नेताओं ने कहा कि मजदूर और किसान विरोधी केन्द्र सरकार को खदेड़ने का काम केवल ट्रेड यूनियन ही कर सकती है। केन्द्र सरकार के निजीकरण आदि नीतियों पर जोरदार हमला बोला गया। नेताओं ने 26 नवम्बर की हड़ताल को सफल बनाने का आव्हान किया। यहा बताना होगा कि इस हड़ताल में भारतीय मजूदर संघ सम्मिलित नहीं है।