संसदीय सचिव चंद्राकर ने रांची पहुंच झारखंड के सीएम को आदिवासी नृत्य महोत्सव में छत्तीसगढ़ आने का दिया निमंत्रण

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 28 अक्टूबर से 1 नवंबर, 2021 तक द्वितीय राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन किया गया है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन के संसदीय सचिव एवं महासमुंद के विधायक विनोद सेवन लाल चन्द्राकर ने आज झारखंड की राजधानी रांची में वहां के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से मुलाकात कर राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव-2021 में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। राज्य शासन द्वारा रायपुर में 28 अक्टूबर से 1 नवम्बर तक इसका आयोजन किया जा रहा है।

संसदीय सचिव श्री चन्द्राकर ने मुलाकात के दौरान झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को बताया कि छत्तीसगढ़ में देश और विश्व की सबसे प्राचीन आदिम सभ्यताएं आज भी जीवित हैं। इन सभ्यताओं के संरक्षण तथा उनके मूल स्वरूप को अक्षुण्ण बनाए रखने की दिशा में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा कार्य किए जा रहे हैं। आदिवासी संस्कृति, लोक नृत्य, लोक संगीत तथा लोक कलाओं को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

श्री चन्द्राकर ने मुख्यमंत्री श्री सोरेन को बताया कि आदिवासी संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 28 अक्टूबर से 1 नवम्बर तक राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इसमें देशभर से आमंत्रित कलाकार अपने-अपने राज्य के आदिवासी नृत्यों की प्रस्तुति देंगे। उन्होंने महोत्सव में शामिल होने के लिए श्री सोरेन को आमंत्रित करते हुए कहा कि आपकी उपस्थिति से छत्तीसगढ़ की धरा में आयोजित इस महोत्सव की शोभा बढ़ेगी।

श्री चन्द्राकर ने मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री श्री सोरेन को छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध आदिवासी लोक शिल्प बस्तर आर्ट से निर्मित स्मृति चिन्ह भेंट किया। मुख्यमंत्री श्री सोरेन ने आमंत्रण के लिए संसदीय सचिव विनोद सेवन लाल चन्द्राकर को धन्यवाद दिया तथा महोत्सव के सफल आयोजन के लिए छत्तीसगढ़ सरकार को अपनी अग्रिम शुभकामनाएं दीं। इस दौरान उनके प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का और छत्तीसगढ़ राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी राकेश कुमार गोलछा भी मौजूद थे।