Jama Masjid
Jama Masjid

नई दिल्ली, 24 नवम्बर।  दिल्‍ली महिला आयोग की अध्‍यक्ष स्‍वाति मालिवाल ने दिल्‍ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम को एक नोटिस जारी किया है। इस नोटिस में जामा मस्जिद में महिलाओं और लड़कियों को पुरूष साथी के बगैर प्रवेश को प्रतिबंधित किए जाने पर कारण बताने को कहा गया है।

दिल्‍ली की जामा मस्जिद के प्रवेश द्वार पर एक नोटिस लगाया गया है। इस नोटिस में कहा गया है कि महिलाओं और लड़कियों को बिना पुरूष साथी के मस्जिद में प्रवेश पर बोर्ड प्रतिबंध लगाता है।

इस प्रतिबंध पर संज्ञान लेते हुए सुश्री मालिवाल ने आज जारी किए गए नोटिस में कहा कि मस्जिद में महिलाओं के निर्बाध प्रवेश और धार्मिक आस्‍था का पालन करने पर उन्‍हें प्रतिबंधित करना पूरी तरह से भेदभावपूर्ण है। धार्मिक आस्‍था की जगह पर यह एक निंदनीय कार्रवाई है। धार्मिक स्‍थल लैंगिक भेदभाव से मुक्‍त और सभी के लिए खुला होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि इस प्रकार का आदेश पूरी तरह से महिलाओं और भारत के संविधान की मूल भावना के विरूद्ध है। सुश्री मालिवाल ने अगले सोमवार तक इस मामले में जवाब मांगा है।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …