मेजा थर्मल पाॅवर प्रोजेक्ट की दूसरी इकाई भी उत्पादन में आई, एनटीपीसी की कुल उत्पादन क्षमता 63635 मेवा पर पहुंची

लखनऊ (IP News). उत्तरप्रदेश के मेजा में स्थापित पहले सुपरक्रिटिकल विद्युत संयंत्र की 660 मेगावाट क्षमता वाली दूसरी इकाई भी उत्पादन में आ गई है। शनिवार को इस यूनिट का सफलतापूर्वक ट्रायल किया गया। मेजा ऊर्जा निगम प्राइवेट लिमिटेड (MUNPL) का 1320 मेगावाट क्षमता वाले संयंत्र की पहली इकाई 30 अप्रैल, 2019 से चालू हो गई थी। एमयूएनपीएल सार्वजनिक क्षेत्र की एनटीपीसी लिमिटेड और उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लि. (UPRVUNL) का 50ः50 का संयुक्त उद्यम है।

इसे भी पढ़ें: सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र ने 10 साल पुराने दैनिक हाट मेटल उत्पादन के कीर्तिमान को ध्वस्त किया

इस संयुक्त उद्यम का गठन 2008 में राज्य के प्रयागराज जिले से करीब 45 किलोमीटर दूर मेजा में 1,320 मेगावॉट (2 गुणा 660 मेगावॉट) का कोयला आधारित ताप बिजली संयंत्र लगाने के लिए किया गया था।

संयंत्र से उत्पादित 82 प्रतिशत बिजली की खपत उत्तर प्रदेश में होगी। पांच प्रतिशत बिजली राजस्थान को, 4.8 प्रतिशत जम्मू-कश्मीर को, 3.6 प्रतिशत पंजाब, 2.8 प्रतिशत उत्तराखंड को और शेष चंडीगढ़ और मध्य प्रदेश को दी जाएगी।
इस इकाई के उत्पादन में आ जाने के बाद एनटपीसी की कुल विद्युत उत्पादन क्षमता 63635 मेगावाट पर पहुंच गई है।