केन्‍द्रीय मंत्री डा. जितेन्‍द्र सिंह ने पानी शुद्ध करने वाले स्‍टार्ट-अप की शुरुआत की

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित इस स्‍टार्ट-अप को आईआईटी के पूर्व छात्रों ने बनाया है। इसके जरिए बाजार से बहुत कम कीमत पर पीने का स्‍वच्‍छ पानी उपलब्‍ध कराया जा सकता है।

केन्‍द्रीय मंत्री डॉक्‍टर जितेन्‍द्र सिंह ने आज नूतन प्रौद्योगिकी के जरिए पानी शुद्ध करने वाले स्‍टार्ट-अप की शुरुआत की। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर आधारित इस स्‍टार्ट-अप को आईआईटी के पूर्व छात्रों ने बनाया है। इसके जरिए बाजार से बहुत कम कीमत पर पीने का स्‍वच्‍छ पानी उपलब्‍ध कराया जा सकता है।

इस अवसर पर डॉक्‍टर सिंह ने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस से संचालित स्‍टार्ट-अप पहल से अन्‍य स्‍टार्ट-अप को भी प्रेरणा लेनी चाहिए।

डॉक्‍टर सिंह ने कहा कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ऐसे कुशल और प्रतिभावान सम्‍भावित लघु तथा वहनीय स्‍टार्ट-अप तक पहुंचने के लिए प्रतिबद्ध है, जिनके पास संसाधनों की कमी है।

उन्‍होंने निजी क्षेत्र से कहा कि वह करीब 14 करोड़ ऐसे घरों को तकनीकी सहायता उपलब्‍ध कराने में मदद करें जिनके पास पीने का स्‍वच्‍छ पानी उपलब्‍ध नहीं है।

सोशल मीडिया पर अपडेट्स के लिए Facebook (https://www.facebook.com/industrialpunch) एवं Twitter (https://twitter.com/IndustrialPunchपर Follow करें …