कोल इंडिया बोनस : बरसेंगे 2028.59 करोड़ रुपए, मार्केट में आएगा बूम, ईसीएल को मिलेंगे 371.51 करोड़, एसईसीएल के हिस्से आएंगे 320.62 करोड़

कोरबा (IP News). कोल इंडिया लिमिटेड और अनुषांगिक कंपनियों के गैर अधिकारी (कर्मचारियों) के सालाना बोनस पर मुहर लग चुकी है। रांची में हुई जेबीसीसीआई की स्टैंडराइजेशन कमेटी की मैराथन बैठक में प्रत्येक कामगार को 68 हजार 500 रुपए देने पर सहमति बनी। दो लाख 96 हजार 145 कर्मचारियों को बोनस का लाभ मिलेगा। एक सितम्बर, 2020 की स्थिति के अनुसार सीआईएल व अनुषांगिक कंपनियों में दो लाख 50 हजार 124 कर्मी कार्यरत हैं। जबकि सिंगरेनी कोलियारिज कंपनी लिमिटेड (एससीसीएल) में एक मार्च, 2020 की स्थिति में 46 हजार 21 कामगार नियोजित हैं। इस लिहाज से 2028 करोड़ 59 लाख 32 हजार 500 रुपए बोनस के रूप में बंटेगे। बोनस पर न केवल कर्मी बल्कि बाजार की नजर भी रहती है। बोनस की एक बड़ी राशि मार्केट में पहुंचती है।

ईसीएल में बंटेगा सबसे ज्यादा बोनस, इसके बाद एससीसील व एसईसीएल

ईस्टर्न् कोलफील्ड्स लिमिटेड में 1 सितम्बर, 2020 की स्थिति में 54 हजार 236 कर्मचारी कार्यरत हैं। इस लिहाज से यहां 371 करोड़ 51 लाख 66 हजार रुपए बोनस बंटेगा। ईसीएल के बाद एसीसीएल में 315 करोड़ 24 लाख रुपए से ज्यादा की रकम बंटेगी। एसईसीएल में 46 हजार 86 कर्मी हैं। यहां 320 करोड़ 62 लाख 11 हजार की राशि वितरित होगी।

देखें किस कंपनी में कितने कर्मी और कितनी मिलेगी रकम

कंपनी/विभाग  – कर्मी – बोनस

  • ईसीएल – 54236 – 371,51,66,000
  • बीसीसीएल – 40540 – 277,69,90,000
  • सीसीएल – 35369 – 242,27,76,500
  • डब्ल्यूसीएल – 36813 – 252,16,90,500
  • एसईसीएल – 46806 – 320,62,11,000
  • एमसीएल – 20074 – 137,50,69,000
  • एनसीएल – 12455 – 85,31,67,500
  • एनईसी – 991 – 6,78,83,500
  • सीएमपीडीआई – 2257 – 15,46,04,500
  • डीसीसी – 227 – 1,55,49,500
  • सीआईएल एचक्यू – 356 – 2,43,86,000
  • एसीसीएल – 46021 – 315,24,38,500
  • कुल – 296145 – 2028,59,32,500

एक नजर वर्षवार बोनस भुगतान पर

  • 2010 – 17000
  • 2011 – 21000
  • 2012 – 26000
  • 2013 – 31500
  • 2014 – 0000
  • 2015 – 48500
  • 2016 – 54000
  • 2017 – 57000
  • 2018 – 60500
  • 2019 – 64700
  • 2020 – 68500